ये पाप करने वाले मनुष्य को कभी माफ़ नहीं करते महादेव

भगवान शिव उन देवताओं में से हैं जिन्हें प्रसन्न करने के लिए छप्पन भोग या अन्य किसी प्रकार के चढ़ावे की ज़रुरत नहीं होती बल्कि प्रतिदिन शिवलिंग पर जल अर्पित करने मात्र से ही महादेव प्रसन्न हो जाते हैं और अपने भक्तों की सभी मनोकामनाएं पूर्ण करते हैं। बाहर से शिव जी जितने कठोर लगते हैं अंदर से वे उतने ही भोले हैं इसलिए इनका एक नाम भोलेनाथ भी है।
भले ही भगवान को भोलेनाथ कहा जाता है लेकिन कुछ पाप ऐसे हैं जिन्हें महादेव कभी क्षमा नहीं करते हैं। हिंदू धर्म में कुछ पाप ऐसे हैं जो या तो मनुष्य अपने कार्यों से, बातों से या फिर अपनी सोच से करता है इसलिए भोलेनाथ को केवल गलत काम करने वाले लोग ही नहीं बल्कि गलत सोच रखने वाले लोग भी नापसंद हैं। तो चलिए जानते हैं उन पापों के बारे में जिन्हें करने वालों को शिव जी कभी क्षमा नहीं करते।
भूल कर भी किसी और के धन का दुरूपयोग नहीं करना चाहिए। इसके अलावा यदि आपने किसी से पैसे लिए हैं तो उसका सारा पैसा ईमानदारी से उसे वापस कर देना चाहिए। दूसरों के धन पर दृष्टि रखने वाले लोगों को भगवान भोलेनाथ ज़रूर दण्डित करते हैं।
किसी की शादीशुदा ज़िंदगी में ज़हर घोलने वाले लोग महादेव की नज़र में बहुत बड़े पापी होते हैं इसलिए न तो किसी और की पत्नी पर बुरी नज़र रखनी चाहिए और न ही पति पत्नी के रिश्ते में दरार डालनी चाहिए। दूसरों के ख़िलाफ़ साज़िश रचना
किसी के भी प्रति मन में हीन भावना रखना या फिर उनके ख़िलाफ़ साज़िश रच कर उन्हें दुःख पहुंचाना भी बहुत बड़ा पाप होता है और ऐसे लोग शिव जी को बिल्कुल पसंद नहीं होते। भगवान को तो अपनी तरह भोले और सच्चे लोग पसंद होते हैं। गलत रास्ते पर चलने वाले
कुछ लोगों को दूसरे की खुशियां बर्बाद करने और समाज में किसी भी तरह से उपद्रव मचाने में बहुत मज़ा आता है। ऐसे समाज विरोधी लोगों को भोलेनाथ बहुत बड़ा दंड देते हैं।
हिंदू धर्म में माना जाता है कि स्त्री का अपमान करने से लक्ष्मी जी रूठ जाती हैं और हमेशा के लिए ऐसा करने वालों के घर को त्याग देती हैं। यह सिर्फ महादेव को ही नापसंद नहीं है बल्कि चाणक्य का भी कहना था कि जिस घर में स्त्री का आदर नहीं होता वहां किसी भी देवी देवता का वास नहीं होता।
अपने से बड़ों का या फिर अपने गुरु का अनादर करने वाले भोलेनाथ के कभी क़रीब नहीं पहुंच पाते। ऐसे लोगों को भगवान के क्रोध का सामना करना पड़ता है। इ
जानवरों को मार कर उन्हें खाना या किसी अन्य चीज़ के लिए उनका उपयोग करना भी भोलेनाथ को बेहद नापसंद है। इससे भगवान अप्रसन्न होते हैं। इस प्रकार की हिंसक कार्रवाई करने वाले लोग शिव जी की सज़ा के पात्र होते हैं।
किसी ब्राह्मण के पैसे चुराना या फिर मंदिर जैसी पवित्र जगह पर चोरी करने वाले शिव जी को नापसंद होते हैं। ऐसे लोगों को भगवान ज़रूर दंड देते हैं।
इसके अलावा किसी भी ब्राह्मण, सन्यासी या तपस्वी का भी अपमान नहीं करना चाहिए। शिव जी की नज़रों में यह भी है पाप किसी भी स्त्री के साथ अवैध सम्बन्ध रखना या फिर गोशाला और जंगल में आग लगाना भी भोलेनाथ की नज़रों में पाप है।

Comments

comments