हर रोज नहाते समय धीरे से बोल दें ये छोटा सा मंत्र, कभी नहीं होगी पैसों की कमी

ये बात सच है हिन्‍दु धर्म में कई मान्‍यताएं है, जो कि सर्वश्रेष्‍ठ मानी जाती है वहीं ये बात भी सच है कि इस धर्म में शास्‍त्रों को विशेष जगह मिली है यही कारण है कि हमारे जीवन में होने वाली सारी घटनाओं के संकेत हमें शास्‍त्रों के द्वारा मालूम होते है और इसका समाधान भी हमें शास्‍त्रों से ही मिल पाता है। वैसे तो ऐसे तो हिन्दू धर्म में कई ऐसे मन्त्र हैं जिनके बारे में बताया गया और ये भी बताया गया है कि कैसे इसका जाप करना चाहिए। इन विधानों को अपनाने के बाद हमारे जीवन में कई तरह के परिवर्तन आते हैं और तो और समस्‍याओं का भी नाश होता हे।

आज हम आपको ऐसे ही विशेष मंत्र के बारे में बताने जा रहे हैं जिसका उल्‍लेख हमारे शास्त्रों में है जिनका जाप करने या अपनाने के पश्‍चात व्यक्ति के जीवन में कई बदलाव हो जाते है। ये बात तो हम सभी जानते हैं कि स्‍वस्‍थ जिंदगी के लिए हर रोज नहाना बेहद जरूरी है। वहीं आपको ये भी बता दें कि स्‍वस्‍थ रहने के साथ साथ स्‍वच्‍छ रहना भी बेहद जरूरी है क्‍योंकि इसका सीधा संबंध हमारी आर्थिक स्थिति से भी जुड़ा हुआ है।

वहीं शास्त्रों में प्रतिदिन नहाने के महत्व को बताया गया है लेकिन ये बात बहुत कम लोग जानते हैं कि नहाते समय एक बहुत ही छोटा सा काम कर वो अपनी आर्थिक स्थिती को सुधार सकते हैं। इसके लिए आपको सिर्फ नहाते वक्त एक मन्त्र का जाप करना है। ये कोई ऐसा वैसा मंत्र नहीं है बल्कि इसका जिक्र शास्त्रों में भी किया गया है। शास्त्रों के मुताबिक इस मंत्र के जाप से मां लक्ष्मी जल्द प्रसन्न होती हैं।

आपको शायद पता नहीं होगा लेकिन बता दें कि शास्त्रों में दिन प्रतिदिन के सभी नित्य कार्यों के लिए अलग-अलग मंत्र बताये गए हैं। इसका मतलब ये है कि हर नित्य कार्यों को करते वक्त एक मंत्र का जाप करना निर्धारित किया गया है। कुछ इसी तरह से व्‍यक्ति के हर रोज नहाते सयम के लिए भी एक मंत्र का जिक्र शास्त्रों में किया गया है। बताया गया है कि हम सभी को नहाने के सयम मंत्रों का जाप करना चाहिए। स्नान के समय किसी मंत्र, पाठ, कीर्तन या भजन का जाप किया जा सकता है। ऐसा करने से व्यक्ति को अक्षय पुण्य की प्राप्ति होती है।

बताते चलें कि अगर कोई व्‍यक्ति नौकरी की तलास में है तो इस मंत्र के जाप करने से उनको नौकरी मिलेगी, इसके अलावा इस मन्त्र के जाप करने से भगवान भोले की असीम कृपा हमें प्राप्त होगी और तो और शिव जी व्‍यक्ति की सारी मनोकामना पूरी कर देते हैं और हमको सभी कामो में सफलता मिलने लगती है , तो आइए जानते हैं कि जिस मन्त्र की हम बात कर रहे है वो मन्त्र क्‍या है- महामृत्युंजय मंत्र :- ऊं त्रयम्बकं यजामहे, सुगन्धिं पुष्टिवर्धनं उर्वारुकमिव बन्धनान् मृत्योर्मोक्षिय मामृतात्।

वहीं इसके अलावा ये भी बता दें कि अगर आप नदी में स्नान कर रहे हैं तो वहां उस नदी के पानी पर ऊँ लिखकर उसमें तुरंत डुबकी लगा देनी चाहिए। ऐसा करने से उसे नदी स्नान का पूर्ण फल प्राप्त होगा। इसके अतिरिक्त आस-पास की नकारात्मक ऊर्जा भी नष्ट हो जाएगी। इस उपाय को करने से ग्रह दोष शांत होते हैं और बुरी नजर से भी बचाव होता है।

Comments

comments