सिर ढककर क्यों की जाती है पूजा । जाने सिर ढककर पूजा करने के फायदे


बात अगर हिंदू धर्म की हो रही हो तो उसमें कई सारी परम्पराएं ऐसी होती हैं जिन्हें पूरा करना सबसे ज्यादा अनिवार्य होता है. जिसमें से सबसे महत्वपूर्ण है पूजा करते समय महिलाओं का सिर ढकना. लेकिन क्या आपने कभी सोचा है कि महिलाएं सिर ढककर पूजा क्यों करती है । अगर नहीं तो आइये जानते हैं रहस्यमयी कारण।

1.हिंदू धर्म में मान्यता है कि आप जिनका सम्मान करते हों उसके सामने हमेशा सिर ढककर ही जाना चाहिए. इस बात को महिलाओं पर ज्यादा लागू किया जाता है।

2.जानकारी के लिए बता दें कि देवी-देवता के सम्मान स्वरूप ही उनकी पूजा-अर्चना की जाती है. इसलिए ऐसा माना जाता है कि महिलाओं को पूजा करते समय अपना सिर ढक लेना चाहिए।

3.ऐसा माना जाता है कि सिर ढककर पूजा-पाठ करने से व्यक्ति के अंदर नकारात्मक उर्जा प्रवेश नहीं कर पाती, और दिमाग में सकारात्मकता बनी रहती है।

4.पूजा-पाठ के लिए माहौल में सकारात्मकता का होना बेहद जरूरी माना जाता है क्योंकि इससे ईश्वर की आराधना करने से शुभ फल प्राप्त होता है।

5.सिर ढकने के बारे में एक इस बात की भी मान्यता है कि इससे ध्यान एकाग्र रहता है और पूजा-पाठ करते समय भी मन लगता है।

6.वेदों के अनुसार कहा गया है कि सिर के मध्य में एक केन्द्रीय चक्र पाया जाता है।

7.सिर को ढककर भगवान की आराधना करने से इस चक्र पर जल्द प्रभाव पड़ता है जिससे कई बड़े लाभ भी मिलते हैं।

Comments

comments