क्या मुसलमान अल्लाह के नाम से किसी देवता को पुकारते है ? पढ़े सच्चाई

अल्लाह नाम इस्लाम आने के पहले से इस्तेमाल कैसे होता आया है। पैगंबर मोहम्मद के पिता का नाम था अब्दुल्ला। जिसका अर्थ होता है अल्लाह का सेवक। ये नाम इस्लाम कने से पहले का है और यह दर्शाता है कि इस्लाम के पहले भी अल्लाह उसी तरह से पूज्य था। जैसे इस्लाम आने के बाद हुआ। अल्लाह शब्द अरबी भाषा के दो शब्दों से अल-इलाह मिलकर बना है। इलाह का मतलब होता है। खुदा, ईस्ट, भगवान, प्रभु।

अल्लाह नाम किसी एक देवता के लिए संबोधित नहीं था बल्कि अल्लाह शब्द एक सर्जन करता या पालनहार के लिए इस्तेमाल होता था। जिसे हम हिंदुओं द्वारा प्रचलित शब्द भगवान के उदाहरण से समझ सकते हैं। भगवान शब्द किसी एक देवता के लिए इस्तेमाल नहीं होता है भगवान शब्द इस्तेमाल किया जाता है सृष्टि रचयिता के लिए जहां राम भी भगवान है और कृष्ण भी। इन्हें भगवान का ही रूप माना जाता है। ठीक उसी तरह अरबी शब्द अल्लाह है। अरब इसे सृष्टि रचयिता को संबोधित करने के लिए इस्तेमाल करते हैं।

Comments

comments