सावन में भूल कर भी का ना करें ये गलती वरना भगवान शिव हो जाएंगे नाराज़

Sawan ke Mahine me Kya na Kare – सावन का महीना भगवान महादेव को बहुत ही पसंद है। शास्त्रों के अनुसार अन्य दिनों की अपेक्षा सावन के महीने में शिवजी की पूजा और अभिषेक करने से जल्दी और कई गुना अधिक फल प्राप्त होता है। सावन का महीना भगवान शिव को मनाने के लिए सबसे उत्तम महीना होता है।

लड़कियां मनचाहा जीवनसाथी पाने के लिए इस महीने भगवान भोलेनाथ के व्रत रखती है, तो महिलाएं अपनी सुहाग की लंबी उम्र पाने के लिए शिवलिंग पर जलाभिषेक करती हैं। इसके बावजूद इस महीने में अगर कुछ सावधानी नहीं बरती जाए, तो भगवान भोलेनाथ खुश होने की जगह नाराज हो सकते हैं, तो आओ जानते हैं, भगवान भोलेनाथ की कृपा दृष्टि पाने के लिए कौन-कौन से काम करने से बचना चाहिए।

सावन में शिवजी की आराधना करते समय हल्दी नहीं चढ़ानी चाहिए। हल्दी को हमेशा जलधारी में ही चढ़ानी चाहिए।
शास्त्रों के अनुसार सावन के महीने में सूर्य उदय से पूर्व उठकर स्नान करके शिव जी का ध्यान कर शिवजी को जल चढ़ाना चाहिए। देर तक सोने से यह अवसर हाथ से चला जाता है और ऐसे लोग भगवान शिव की कृपा दृष्टि से वंचित रह जाते हैं।

सावन के महीने में एक व्रती को हरी सब्जियां और साग का सेवन नहीं करना चाहिए। शरीर पर तेल नहीं लगाना चाहिए और नहीं कांसे के बर्तन में खाना खाना चाहिए। पूजा के समय में शिवलिंग पर हल्दी ना चढ़ाएं। सावन का महीना शिव का महीना है, इसलिए शिव के भक्तों का सामान शिव की सेवा के समान ही लाभदायक है। इसी कारण से कई लोग कांवड़ियों की मदद करते हैं।

इसे भी पढ़े : Sawan ke Mahine me Kya na Kare

Comments

comments