शुक्रवार : संतोषी माता के व्रत की विधि, व्रत से सभी मनोकामनाएं पूरी होती हैं

1.सूर्योदय से पूर्व उठकर घर की सफाई करें व स्नानादि से निवृत्त हो जाएं।

2.घर में पवित्र स्थल पर मां की मूर्ति या चित्र स्थापित करें और पूजन सामग्री व किसी बड़ेे पात्र में शुद्ध जल भर लें।

3.जल भरे पात्र पर गुड़ व चने से भरा दूसरा पात्र रख दें और मां की विधिविधान से पूजन शुरु करें।

4.पूजन के बाद मां के व्रत की कथा वाचन करें या सुनें इसके बाद आरती कर सभी को गुड़ व चने का प्रसाद बाटें।

5.जल को घर में छिडक़ दें और तुलसी के पौधे को अर्पित कर दें।

6.यह व्रत 16 शुक्रवार करने से मां प्रसन्न होकर सारी मनोकामना पूरी करती हैं, अंतिम शुक्रवार को व्रत का विसर्जन करना न भूलें।

7.व्रत विसर्जन /उद्यापन के दिन व्रत की विधि से मां की पूजन करें और 8 बच्चों को खीर-पुरी का भोजन कराएं और दक्षिणा व केले का प्रसाद देकर विदा करें फिर स्वयं भोजन ग्रहण करें ।

इसे भी पढ़े :

Comments

comments