पिस्टल और राइफल रखने के मामले में सलमान खान का कोर्ट में अंतिम केस है

19 साल पुराने राजस्थान के काला हिरण शिकार मामले में आज जोधपुर की अदालत अपना फैसला सुनाएगी । जिसके लिए हम साथ साथ है फिल्म की पूरी कास्ट जिसमें सलमान खान , तब्बू , नीलम , सोनाली बेंद्रे , सैफ अली खान आदि दोषी है । जहां सलमान खान मुख्य दोषी है तो बाकी पर उनको उकसाने का केस लगा है । हालांकि इससे पहले ही अन्य 3 केस का फैसला आ चुका हैं और ये अंतिम केस है ।

जानिए, क्या है ये पूरा मामला

– 19 साल पहले सितंबर 1998 में सलमान खान जोधपुर में सूरज बड़जात्या की फिल्म हम साथ साथ हैं की शूटिंग कर रहे थे। इसी दौरान वो फिल्म में सहयोगी कलाकारों सैफ अली खान, सोनाली बेंद्रे, तब्बू और नीलम के साथ शिकार के लिए गए। आरोप है कि उन्होंने वहां संरक्षित काले हिरण का शिकार किया।

– शिकार की तारीख 27 सितंबर, 28 सितंबर, 01 अक्टूबर और 02 अक्टूबर 1998 बताई गई। साथी कलाकारों पर सलमान को शिकार के लिए उकसाने का आरोप लगा। अब इस पर आज फैसला आने वाला है।

– बिश्नोई समाज के लोगों ने इस मामले में पुलिस में शिकायत की। इसके बाद वन्य विभाग और पुलिस दोनों सक्रिय हुए। तब तीन मामले सलमान और उनके साथियों के खिलाफ दर्ज किए गए।

– इस मामले में 12 अक्टूबर 1998 को पहली बार सलमान ख़ान की गिरफ्तारी हुई। पांच दिन जेल में रहने के बाद 17 अक्टूबर को सलमान जमानत पर जोधपुर जेल से रिहा हुए।
घोड़ा फार्म हाउस शिकार मामले में ट्रायल कोर्ट ने 10 अप्रैल 2006 को पांच साल की सजा सुनाई। 6 दिन जेल में रहने के बाद उन्हें जमानत मिली। 26 अगस्त 2007 को सेशन कोर्ट ने उनकी सजा को बरकरार रखा। सलमान को फिर 6 दिन जेल में काटने पड़े।

– गिरफ्तारी के दौरान सलमान के कमरे से पुलिस ने पिस्टल और राइफल बरामद की। आरोप है कि जिन हथियारों से शिकार किया गया उसका लाइसेंस पहले ही खत्म हो चुका था। लिहाजा सलमान पर आर्म्स एक्ट के तहत चौथा केस भी दर्ज हुआ था।

Comments

comments