UPCOCA Act : यूपी में अब अपराधियों की खैर नहीं, योगी का क्रांतिकारी फैसला

आज आखिरकार लंबे समय के बाद ‘यूपी कंट्रोल ऑफ़ आर्गनाइज्ड क्राइम एक्ट’ (UPCOCA Act) विधेयक पास हो गया । पहले से ही ये विधानसभा में पारित हो गया था , परंतु विधान परिषद् से पारित नहीं हो सका था । आज इसको पुनः विधान परिषद् में पेश किया हुआ जिसको विपक्ष के विरोध के बावजूद से पारित कर दिया गया ।

UPCOCA Act कानून के महत्वपूर्ण बिंदु

  1. UPCOCA Act के तहत अपराधियों पर लगाम लगेगी ।
  2. इस कानून के बनने से अब पुलिस सबसे पहले अपराधियों के खिलाफ पहले पुख़्ता सबूत इकठ्ठा करेगी फिर उसी आधार पर उनको गिरफ्तार किया जाएगा ।
  3. इस कानून के तहत आने वाले अपराधों की सूची में निजी या सरकारी जमीन पर कब्ज़ा, बाजारों, व्यापारियों से अवैध वसूली, अवैध खनन, वन उपज का अवैध दोहन, मनी लॉन्ड्रिंग, मानव व्यापार नकली दवा, अवैध शराब बेचना ऐसे अपराधों से किसी की मौत होने पर आरोपी को उम्रकैद या मृत्युदंड मिलेगा व अपराधियों के मददगार व्यक्ति, अफसर भी दोषी होंगे । इसके अलावा सरकार के खिलाफ होने वाले हिंसक प्रदर्शनों को भी इसमें शामिल किया गया है ।
  4. यूपीकोका से संबंधित मामलों में कम से कम सात साल सज़ा व 15 लाख रुपए जुर्माना प्रस्तावित है।
  5. इस विधेयक में गवाहों की सुरक्षा को ध्यान में रखके बनाया गया हैं । इस विधेयक में गवाही भी बंद कमरे में होगी और अदालत भी गवाह के नाम को उजागर नहीं करेगी । अपराधी की पहचान भी आमने सामने से न होकर फोटो, वीडियो या अन्य माध्यम से होगी । अभियुक्त को यह जानने का अधिकार नहीं होगा कि उसके खिलाफ किसने गवाही दी है ।
  6. यह कानून केवल आपराधिक इतिहास वाले व्यक्ति पर ही लागू हो सकेगा । प्रथम बार अपराध करने वाले व्यक्ति पर नहीं ।पांच वर्ष में एक से अधिक बार संगठित अपराध के मामले में चार्जशीट दाखिल हुई हो व कोर्ट ने दोषी माना हो। दुरुपयोग रोकने के लिए राज्य स्तर की समिति के अन्दर कमिश्नर और आईजी या डीआईजी स्तर के अधिकारी की समिति के अनुमोदन का प्रावधान है।

इस कानून के पास होने के बाद सरकार का कहना है कि दावा है कि इस विधेयक के पास होते ही सूबे में खनन माफिया, लैंड माफिया और संगठित अपराध पर लगाम लगाने में मदद मिलेगी, प्रदेश में संगठित अपराध से जुड़े अपराधियों की कमर टूटेगी. लेकिन ये समझ से बाहर हैं कि विपक्ष इतने महत्वपूर्ण विधेयक का विरोध क्यों कर रहा हैं ?

Comments

comments