Triple Talaq Case Verdict – मोदी & योगी पे अटूट विश्वास का परिणाम है।

आज से मुस्लिम महिलाओ की आजादी का दिन है, बहुचर्चित Triple Talaq Case Verdict मामले में उच्चतम न्यायालय के, पांच जजों की न्यायपीठ ने देश के सबसे बड़े मुद्दे पर बड़ा फैसला देते हुए इस पर रोक लगा दी है. उच्चतम न्यायालय ने केंद्र सरकार को आदेश दिया है कि अगले छह महीने के भीतर तीन तलाक पर कानून बनाए. जस्टिस Jagdish Singh Khehar ने कहा कि इस मुद्दे पर सभी पार्टियों को राजनीति से अलग होकर कदम उठाना होगा. Triple Talaq Case Verdict

तीन तलाक पर सर्वोच्च न्यायालय का फैसला ऐतिहासिक। आज से मुस्लिम बहनों के सम्मान में नए युग की शुरुआत। कैलाश विजयवर्गीय ने फसबूक पर लिखा “तीन तलाक पर माननीय उच्चतम न्यायालय के निर्णय से लोकतंत्र मजबूत हुआ है। इस महत्वपूर्ण निर्णय पर तलाक के भय के साये में रहने वाले महिलाजगत् को बधाई। जो महिलाएं इस अमानवीय प्रथा के विरोध में आगे आयीं उन्हें विशेष बधाई क्योंकि उन्होंने घोर अंधकार में अलख का काम किया।Triple Talaq Case Verdict

उच्चतम न्यायालय का यह निर्णय तथा सरकार को कानून बनाने का आदेश अंधकार में प्रकाश की एक रेखा है, जो लम्बे संघर्ष और विजिगीषा का परिणाम है। आशा है इस पर प्रभावी कानून बनेगा तथा मुस्लिम महिलायें तलाक के दंश से मुक्त होकर निर्भीक जीवन जी सकेंगी। तीन तलाक पर सुप्रीमकोर्ट का निर्णय मुस्लिम महिलाओं के लिए स्वाभिमान पूर्ण एवं समानता के एक नए युग की शुरुआत।Triple Talaq Case Verdict

बीजेपी प्रेजिडेंट अमित शाह ने ख़ुशी जताई इस फैसले पर Triple Talaq Case Verdict.

किसी ने ये मजेदार ट्वीट करके चूल मचा दी सबके अंदर


ये कोई चमत्कार नही सामाजिक हित के लिये महिलाओ के उत्थान के लिए मोदी & योगी पे अटूट विश्वास का परिणाम है।

इसे भी पढ़े :

Comments

comments