कपिल सिब्बल ट्रिपल तलाक़ को बचाने के लिए राम जी की दुहाई दे रहे है – Triple Talaq Hearing

Triple Talaq HearingTriple Talaq Hearing

ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड की ओर से वकील कपिल सिब्बल ने कहा कि तीन तलाक का पिछले 1400 साल से जारी है. अगर राम का अयोध्या में जन्म होना, आस्था का विषय हो सकता है तो तीन तलाक का मुद्दा क्यों नहीं. Triple Talaq Hearing में ट्रिपल तलाक़ को बचाने के लिए राम जी की दुहाई? राम जी के लिए भी कभी ये दलील दे दी होती जनाब. आज इनको भी पता चल गया कि जब कष्ट होता है तो राम जी ही याद आते है लेकिन राम जी को न मानने वाले आज राम नाम ले रहे अच्छा लगा। लोग बदल रहे है।

कल तक तो श्री राम के अस्तित्व को ही नकारते आई थी कांग्रेस पार्टी और आज अपने स्वार्थ हेतु Triple Talaq Hearing में इतनी घटिया तुलना कर गलत को सही ठहराने में लगी है। मुस्लिमों में कपिल सिब्बल नाम पहली बार सुना है, राम के जन्म की बात तो छोड़ दो लेकिन सिब्बल जी आपका जन्म इस देश में हुआ ये इस देश के लिए बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण बात है। क्योंकि आप इतने नमकहराम हैं कि जिस देश ने आपको इस ओहदे तक पहुँचाया आप उसके ही आराध्य का अस्तित्व मानने से इंकार करते हैं।

सिब्बल जी पता नहीं क्यों बचाना चाहते हैं ट्रिपल तलाक को? इनका भी कोई निजी हित है या कांग्रेसी होने के नाते अपने धर्म का पालन कर रहे हैं। इन्होंने पता नही कौन सा चश्मा पहना हुआ है इनको सिर्फ एक धर्म दिखता है, इनकी गलती नही है देश की राजनीति ही ऐसे चलती है, उधर केजरी के अंधभक्तो तथा कुछ उनकी दोस्त पार्टी जैसे जेडीयू का कहना है क़ि केजरी ईमानदार नहीं तो राजा हरिश्चंद्र भी ईमानदार नहीं थे। कुल मिला के इन लोगो की बुद्धि भ्रष्ट हो गयी है।

सिब्बल और दिग्विजय जैसे पुराने नेता Triple Talaq Hearing पर ऐसी शर्मनाक बात कहते हैं, इससे यही साबित होता है कि कांग्रेस की जड़ें कितनी खोखली हैं। ढांचे के नीचे मंदिर का प्रमाण मिलने के बाद भी राममंदिर को केवल आस्था से जोड़ने वाला ये कैसा बेइमान वकील है? मंदिर व राम सत्य इतिहास है।

Comments

comments